Latest News

श्रावण मास के आखिरी सोमवार में हरिद्वार नगरी के शिवालयों पूजा अर्चना कर भगवान भोलेनाथ का किया जलाभिषेक।


हरिद्वार तीर्थ नगरी में शिव मंदिरों में आज सावन के आखिरी सोमवार के दिन वही भक्तों की अत्यधिक भीड़ रही। शिव भक्तों ने भारी उत्साह के साथ भगवान भोले शंकर की विधिवत पूजा कर जलाभिषेक किया। आज प्रातः से ही भगवान भोलेनाथ के दर्शन हेतु श्रद्धालु पूजा पाठ करने हेतु शिव मंदिर पहुंचे।

रिपोर्ट  - विकास शर्मा

हरिद्वार 8 अगस्त (विकास शर्मा) हरिद्वार तीर्थ नगरी में शिव मंदिरों में आज सावन के आखिरी सोमवार के दिन वही भक्तों की अत्यधिक भीड़ रही। शिव भक्तों ने भारी उत्साह के साथ भगवान भोले शंकर की विधिवत पूजा कर जलाभिषेक किया। आज प्रातः से ही भगवान भोलेनाथ के दर्शन हेतु श्रद्धालु पूजा पाठ करने हेतु शिव मंदिर पहुंचे। सावन के आखिरी सोमवार में भगवान शिव के प्रमुख मंदिरों मे दक्ष प्रजापति मंदिर, बिल्केश्वर मंदिर, नीलेश्वर महादेव मंदिर, दूधेश्वर मंदिर आदि शिव मंदिरों में भगवान भोलेनाथ के दर्शन कर उनका आशीर्वाद प्राप्त किया। कनखल स्थित दक्ष मंदिर में आज सुबह से ही दक्षेश्वर महादेव मंदिर में भक्तों की भारी भीड़ उमड़ी। भगवान शिव की ससुराल कहे जाने वाले श्री दक्षेश्वर महादेव मंदिर में श्रद्धालु लाइनों में लगाकर भगवान भोलेनाथ का जलाभिषेक किया। पौराणिक मान्यता के अनुसार भगवान शिव पूरे सावन के महीने में दक्षेश्वर महादेव मंदिर में विराजमान रहते हैं और भक्तों का कल्याण करते हैं। सोमवार के दिन शिव की पूजा का विशेष महत्व बताया गया है। इसी वजह से आज आखिरी सोमवार के दिन श्रद्धालु गण भारी संख्या में पहुंचकर बेलपत्र, भांग , धतूरा, दूध, दही शहद और गंगा जल से भगवान भोलेनाथ का अभिषेक कर रहे हैं। मान्यता के अनुसार भगवान महादेव दक्षेश्वर मंदिर में 3 दिन बाद रक्षाबंधन के दिन यहां से कैलाश पर्वत के लिए प्रस्थान कर जाएंगे।

Related Post