Latest News

अगस्त्यमुनि में स्वास्थ्य विभाग एवं रेड क्राॅस के संयुक्त तत्वाधान में रक्तदान पंजीकरण शिविर का आयोजन


देशभर में चल रहे स्वंय सेवक रक्तदान अभियान के तहत अनुसुया प्रसाद बहुगुणा राजकीय महाविद्यालय अगस्त्यमुनि में स्वास्थ्य विभाग एवं रेड क्राॅस के संयुक्त तत्वाधान मंे रक्तदान पंजीकरण शिविर का आयोजन किया गया। शुक्रवार को राजकीय महाविद्यालय अगस्त्यमुनि में आयोजित स्वंय सेवक रक्तदान कार्यक्रम में स्थानीय विधायक भरत सिंह चैधरी ने बतौर मुख्य अतिथि व जिलाधिकारी मयूर दीक्षित ने अति विशिष्ट के रुप में शिरकत करते हुए द्वीप प्रज्जवलित कर कार्यक्रम का शुभारम्भ किया।

रिपोर्ट  - अंजना भट्ट घिल्डियाल

रुद्रप्रयाग 23 सितंबर, 2022ःः देशभर में चल रहे स्वंय सेवक रक्तदान अभियान के तहत अनुसुया प्रसाद बहुगुणा राजकीय महाविद्यालय अगस्त्यमुनि में स्वास्थ्य विभाग एवं रेड क्राॅस के संयुक्त तत्वाधान मंे रक्तदान पंजीकरण शिविर का आयोजन किया गया। शुक्रवार को राजकीय महाविद्यालय अगस्त्यमुनि में आयोजित स्वंय सेवक रक्तदान कार्यक्रम में स्थानीय विधायक भरत सिंह चैधरी ने बतौर मुख्य अतिथि व जिलाधिकारी मयूर दीक्षित ने अति विशिष्ट के रुप में शिरकत करते हुए द्वीप प्रज्जवलित कर कार्यक्रम का शुभारम्भ किया। कार्यक्रम में स्थानीय विधायक ने उपस्थित छात्र-छात्राओं को सम्बोधित करते हुए कहा कि रेडक्राॅस सोसायटी का योगदान प्रथम विश्व युद्ध से लेकर अब तक हर जगह रहा है। कहा कि दैवी आपदा जैसी चुनौतियों से निपटने में यह सोसायटी हमेशा तत्पर रहती है। इसी प्रकार कोरोना काल में भी सोसायटी के स्वंय सेवकों का भरपूर सहयोग प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग को मिला है। विधायक ने छात्रों को प्रेरित करते हुए कहा कि जीवन में सफलता व असफलता के बीच कोई बड़ा फासला नहीं होता बल्कि अच्छे विचार एवं कठिन परिश्रम ही सफलता की कुंजी है। उन्होंने भारत की सनातन काल से चली आ रही चिकित्सा पद्धति की जानकारी देते हुए कहा कि जिस चिकित्सा पद्धति को विश्व वर्तमान समय में अपना रहा है व हमारे देश में युगो पहले प्रारम्भ हो चुकी थी। जिलाधिकारी ने कहा किसी भी इस प्रकार की किसी भी योजना की सफलता उसके प्रसार पर निर्भर करती है। कहा कि कार्यक्रम को छात्रों बीच आयोजित करने का उद्देश्य यही हैं कि छात्र-छात्रायें एक बेहतर संदेशवाहक होते है। उन्होने छात्रों को स्वंय एवं आस-पड़ोस के निवासियों को अभियान से जुड़कर पंजीकरण करवाने के लिए प्रेरित किया। जिलाधिकारी ने कहा कि योजना का मुख्य उद्देश्य अधिकाधिक ब्लड ग्रुप के साथ स्वंयसेवी रक्तदाताओं का डाटा सुरक्षित रखना है ताकि समय पड़ने पर जरुरतमंद को रक्त की आपूर्ति हो सके। भारतीय रेड क्राॅस सोसायटी रुद्रप्रयाग प्रबंधन समिति के अध्यक्ष दीपराज बंगारी ने कहा कि उनके द्वारा 01 अक्टूबर तक जनपद में 10 हजार स्वंयसेवी रक्तदाताओं का पंजीकरण ई-रक्तकोष पेार्टल पर करने का लक्ष्य है। उन्होने काहा कि प्रथम चरण के तहत महाविद्यलयों जबकि द्वितीय चरण में ग्रामसभावार 20 से 25 का पंजीकरण कर स्वंयसेवी रक्तदाता तैयार किये जायेंगे। इस अवसर पर काॅलेज में शिक्षणरत बीएससी द्वितीय वर्ष की छात्रा वर्षिका रावत ने कत्थक नृत्य की सुन्दर प्रस्तुति दी। कार्यक्रम के पश्चात महाविद्यालय के छात्र-छात्राओं के साथ मिलकर यूथ रेड क्राॅस समिति का गठन किया गया।

Related Post