Latest News

" कोतवाल साहब धोखाधड़ी का मुकदमा कौन दर्ज करेगा? -तीर्थनगरी में न्याय के लिए भटकता पीड़ित व्यापारी-


कोविड-19महामारी के चलते हर कोई आर्थिक सिथति से परेशान है आर्थिक संकट के कारण खड़खड़ी क्षेत्र के व्यापारी ने ऋण लेने का प्रयास किया तो बैंक से जानकारी मिली की उनके नाम पर फर्जीवाड़ा करते हुए शातिर अपराधियों ने बैंक से साजकर फर्जी तरीके से किसान क्रडिट कार्ड बनाकर लाखों का लोन ले लिया है।

हरिद्वार(अजय शर्मा) कोविड-19महामारी के चलते हर कोई आर्थिक सिथति से परेशान है आर्थिक संकट के कारण खड़खड़ी क्षेत्र के व्यापारी ने ऋण लेने का प्रयास किया तो बैंक से जानकारी मिली की उनके नाम पर फर्जीवाड़ा करते हुए शातिर अपराधियों ने बैंक से साजकर फर्जी तरीके से किसान क्रडिट कार्ड बनाकर लाखों का लोन ले लिया है जब इस धोखाधड़ी की सूचना पीड़ित को मिली तो उसने मुकदमा दर्ज करने हेतु अपनी शिकायत नगर कोतवाली पुलिस से की लेकिन पुलिस आरोपियों के खिलाफ़ मुकदमा दर्ज करने को तैयार नहीं है इस कारण पीड़ित न्याय की आस में दर-दर की ठोकरें खाने को मजबूर है। आपको बता दें कि खड़खड़ी क्षेत्र के व्यापारी राजीव कुमार पुत्र स्वर्गीय लक्ष्मी नारायण ने आर्थिक सिथति से परेशान होकर नगर निगम में राष्ट्रीय शहरी आजीविका योजना के तहत ऋण हेतु आवेदन किया था जिसके बाद नगर निगम ने सारी प्रक्रिया पूर्ण करते हुए पीड़ित की ऋण सम्बन्धी पत्रावली दिनाँक-31/12/2020 को पंजाब नेशनल बैंक शाखा खड़खड़ी को प्रेषित कर दी लेकिन बैंक ने इसकी कोई सूचना पीड़ित को नहीं दी पीड़ित लगातार नगर निगम और बैंक के चक्कर लगाता रहा काफी समय गुजर जाने के बाद पीड़ित ने इस बात की शिकायत बैंक के उच्च अधिकारियों को की तब जाकर खड़खड़ी बैंक शाखा ने पीड़ित को बैंक में बुलाकर कहा कि आपके नाम से किसान क्रडिट कार्ड पर पूर्व में लिए गये ऋण का बकाया है इस कारण आपका ऋण स्वीकृत नहीं हो सकता राजीव कुमार(पीड़ित)बताते है कि वे ना तो किसान है और ना ही उन्होंने कभी किसान क्रडिट कार्ड बनवाया और ना ही ऋण लिया है फिर भी बैंक उन्हें दोषी बता रहा है राजीव कहते हैं कि उनके पिता जी का देहांत हो चुका है माता जी लंबे समय से गम्भीर रोग से ग्रसित हैं और कोरोना काल मे उनका व्यापार पूरी तरह चौपट हो चुका है इस कारण उन्होंने ऋण के लिए आवेदन किया था ऋण तो नहीं मिला लेकिन उनके नाम से शातिर लोगों ने बैंक से सांठगांठ करके फर्जी तरीके से ऋण ले लिया जब इस बात की जानकारी उन्हें मिली तो उन्होंने इस बात की शिकायत चौकी प्रभारी खड़खड़ी से की परन्तु चौकी प्रभारी ने उनकी तहरीर पर कोई मुकदमा दर्ज नहीं किया इसके बाद उन्होंने इस बात की शिकायत वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक से की इस पर निरीक्षक/प्रभारी साईबर क्राइम सैल हरिद्वार ने प्रभारी निरीक्षक कोतवाली नगर को अपनी जाँच आख्या में स्पष्ट किया कि जाँच में आवेदक द्वारा लगाये गये आरोप प्रथम दृष्टया धोखाधड़ी के प्रतीत होते हैं आवेदक का प्रार्थना पत्र मूल रूप से वास्ते विधिक निस्तारण हेतु घटना का सम्बंध आपके थाना क्षेत्रान्तर्गत होने के कारण भेजा जा रहा है पीड़ित की माने तो साईबर क्राइम सेल प्रभारी की जाँच आख्या दिनाँक 22 फरवरी 2021 के बाद भी आज तक नगर कोतवाली पुलिस ने पीड़ित का मुकदमा दर्ज नहीं किया है जिस कारण पीड़ित न्याय की आस में भटक रहा है।

अजय शर्मा

Related Post