Latest News

दिव्य शक्तियों का भंडार है लालकुआं का मां अवंतिका देवी मंदिर


लालकुआं क्षेत्र का मां अवंतिका सिद्ध शक्तिपीठ देवी मंदिर श्रद्धालुओं की अपार आस्था का केंद्र है यह देव दरबार दिव्य शक्तियों का भंडार है |

लालकुआं क्षेत्र का मां अवंतिका सिद्ध शक्तिपीठ देवी मंदिर श्रद्धालुओं की अपार आस्था का केंद्र है यह देव दरबार दिव्य शक्तियों का भंडार है जिसके दर्शन कर एक ऐसी सुखद अनुभूति प्राप्त होती है कि लगता है मानो जीवन का परम सुख यही है इस देव दरबार के दर्शन करने के बाद दुनिया के सभी ऐश्वर्य वैभव धन पद प्रतिष्ठा सब शून्य जान पड़ते हैं और जो एक बार देवी मां के दर्शन कर लेता है वह बार-बार यही प्रार्थना करता है कि उसे सदैव देवी मां की अनुकंपा प्राप्त हो यह मंदिर अत्यंत प्राचीन है और वैष्णवी रूप में देवी मां यहां पर पूजी जाती हैं समय-समय पर यहां बड़े धार्मिक अनुष्ठान भी संपन्न कराए जाते हैं शिव पुराण श्रीमद् देवी भागवत श्रीमद् भागवत दुर्गा पूजा महोत्सव जैसे बड़े कार्यक्रम यहां होते रहे हैं हालांकि इस बार कोरोनावायरस के संक्रमण के खतरों को देखते हुए बड़े कार्यक्रम नहीं हो सकेंगे इस मंदिर का दिव्य वातावरण शब्दों में बखान नहीं किया जा सकता सिर्फ उसका अनुभव किया जा सकता है यहां का नैसर्गिक वातावरण भी अतुलनीय है इस देव दरबार में पहुंचते ही मनुष्य को आत्म तत्व का ज्ञान होता है मां अवंतिका मंदिर में माता कोट गाड़ी का दरबार, विघ्नविनाशक गणेश मंदिर, भोलेनाथ मंदिर शनिदेव मंदिर हनुमान मंदिर समेत अन्य मंदिरों की भी स्थापना की गई है जो सभी दिव्य चेतना एवं अलौकिक शक्तियों के समुच्चय हैं मंदिर के पुजारी आचार्य चंद्रशेखर जोशी मां अवंतिका मंदिर की महिमा पर प्रकाश डालते हुए कहते हैं कि जो भी भक्त सच्चे मन से मां के दरबार में शीश नवाता है उसकी समस्त मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं और वह तमाम प्रकार के विपत्तियों एवं कष्टों से मुक्त हो जाता है |

तारा पांडे

Related Post