Latest News

कोरोना वायरस की वैक्सीन को लेकर जहां भारत सहित दुनिया भर के वैज्ञानिक अनुसंधान में जुटे हुए हैं


कोरोना वायरस की वैक्सीन को लेकर जहां भारत सहित दुनिया भर के वैज्ञानिक अनुसंधान में जुटे हुए हैं।वहीं केंद्र सरकार ने वैक्सीन को लेकर ड्राफ्ट तैयार कर लिया है जिसमें आगामी 12 अक्तूबर तक सुझाव मांगे गए हैं।

कोरोना वायरस की वैक्सीन को लेकर जहां भारत सहित दुनिया भर के वैज्ञानिक अनुसंधान में जुटे हुए हैं।वहीं केंद्र सरकार ने वैक्सीन को लेकर ड्राफ्ट तैयार कर लिया है जिसमें आगामी 12 अक्तूबर तक सुझाव मांगे गए हैं। इन नए दिशा निर्देशों के अनुसार, कम से कम 50 फीसदी लोगों में वैक्सीन का असर दिखाई देने पर ही उसे अनुमति दी जा सकती है। इसके अलावा उन वैक्सीन का भी इसमें जिक्र किया गया है जिनके जरिये संक्रमित मरीज को गंभीर अवस्था में जाने से रोका जा सकता है।केंद्रीय औषधि मानक नियंत्रण संगठन की ओर से यह ड्रॉफ्ट तैयार किया है।दरअसल, भारत में अभी तक करीब 30 समूह वैक्सीन अनुसंधान पर जुटे हैं। इसमें भारत बॉयोटेक और कैडिला कंपनी का परीक्षण भी शामिल है जोकि दूसरे चरण में चल रहा है। इसके अलावा रूस और ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी की ओर से तैयार वैक्सीन का परीक्षण भी भारत में किया जाना है। इसी के चलते सरकार ने वैक्सीन के आने से पहले दिशा निर्देशों को तैयार किया है जिसे अंतिम मंजूरी मिलने के बाद पूरे नियम कानून के साथ लागू किया जाएगा। वैक्सीन की डोज बाजार में ले जाने से पहले कसौली स्थित लैब से अनुमति लेना भी जरूरी होगा।

allnewsbharat.com

Related Post