Latest News

चमोली में फंसे प्रवासी मजदूरों को उनके घरों तक पहुॅचाने का सिलसिला जारी है।


कोरोन संकट के बीच लाॅकडाउन के कारण जनपद चमोली में फंसे प्रवासी मजदूरों को उनके घरों तक पहुॅचाने का सिलसिला जारी है। मंगलवार को जिला प्रशासन ने यूपी सहारनपुर के 155 मजदूरों को उनके गतंब्य को भेजा गया। इसमें जोशीमठ से 69, चमोली से 54, गैरसैंण से 15 तथा कर्णप्रयाग से 17 प्रवासी मजदूर शामिल है।

कोरोन संकट के बीच लाॅकडाउन के कारण जनपद चमोली में फंसे प्रवासी मजदूरों को उनके घरों तक पहुॅचाने का सिलसिला जारी है। मंगलवार को जिला प्रशासन ने यूपी सहारनपुर के 155 मजदूरों को उनके गतंब्य को भेजा गया। इसमें जोशीमठ से 69, चमोली से 54, गैरसैंण से 15 तथा कर्णप्रयाग से 17 प्रवासी मजदूर शामिल है। जिलाधिकारी स्वाति एस भदौरिया ने स्वयं सहारनपुर डीएम से बात करके इन मजदूरों को सुरक्षित घर पहुॅचाने की व्यवस्था की गई। इन मजदूरों को 5 बसों से चमोली से हरिद्वार तक पहुॅचाने की व्यवस्था यहाॅ के जिला प्रशासन की ओर से की गई। जबकि हरिद्वार से उनके गंतब्य स्थल तक पहुॅचाने हेतु सहारनपुर डीएम की ओर से व्यवस्था सुनिश्चित कराई गई। ताकि मजदूरों को अपने गतंब्य तक पहुॅचने में किसी तरह की परेशानी न हो। मजदूरों की रवानगी से पहले मेडिकल जाॅच भी कराई गई। विकट परिस्थितियों में जिला प्रशासन से मिली मदद पर प्रवासी मजदूर बेहद प्रसन्न दिखे। मजदूरों नेे जिला प्रशासन की सराहना करते हुए आभार व्यक्त किया। लाॅकडाउन के कारण अभी तक चमोली जिला प्रशासन की ओर से 348 से अधिक प्रवासी मजदूरों को सुरक्षित उनके घरों तक पहुॅचाने की व्यवस्था कराई गई। विगत 1 मई को यूपी के 21 प्रवासी मजदूरों, 7 मई को राजस्थान और हरियाणा के 20 मजदूरों, 8 मई को पंजाब व जम्बू कश्मीर के 84 मजदूरों, 9 मई को यूपी के 3 मजदूरों, 10 मई को जम्बू कश्मीर के 19 मजदूरों, 11 मई को जम्बू कश्मीर के 46 मजदूरों तथा 12 मई को यूपी के 155 प्रवासी मजदूरों को बसों से उनके गतंब्य को भेजा जा चुका है।

अंजना भट्ट घिल्डियाल

Related Post