Latest News

आनन्दम पाठ्यचर्या में तनाव मुक्ति शिक्षा देने पर जोर दिया जाना है


राजकीय इंटर कॉलेज गढी श्यामपुर ऋषिकेश में एस सी आर टी द्वारा आयोजित आनंदम पाठ्यचर्या का दो दिवसीय वर्चुअल शिक्षण प्रशिक्षण प्रारंभ हुआ। प्रशिक्षण के प्रथम दिन संदर्भ दाता सहित डोईवाला क्लॉक के 13 प्रधानाचार्य व शिक्षकों ने प्रतिभाग किया ।

आज राजकीय इंटर कॉलेज गढी श्यामपुर ऋषिकेश में एस सी आर टी द्वारा आयोजित आनंदम पाठ्यचर्या का दो दिवसीय वर्चुअल शिक्षण प्रशिक्षण प्रारंभ हुआ। प्रशिक्षण के प्रथम दिन संदर्भ दाता सहित डोईवाला क्लॉक के 13 प्रधानाचार्य व शिक्षकों ने प्रतिभाग किया । इस अवसर पर विद्यालय के प्रधानाचार्य वीरेन्द्र सिंह यादव ने कहा कि यह कार्यक्रम दिल्ली सरकार के हैप्पीनैस प्रोग्राम की तर्ज पर राजकीय विद्यालयों में अध्ययनरत कक्षा एक से आठवीं तक के बच्चों के लिए चलाया जाना है। जिसमें बच्चों को पढ़ने के साथ तनाव मुक्ति शिक्षा देने पर जोर दिया जाना है। उन्होंने कहा कि इससे बच्चों की एकाग्रता बढ़ेगी व तनाव भी कम होगा। उन्होंने कहा कि बच्चों को तनाव मुक्त शिक्षा देने के लिए पहले शिक्षकों को भी तनाव मुक्त रहना होगा। आनन्दम शिक्षक प्रशिक्षण के नोडल आफिसर डॉ अजय शेखर बहुगुणा प्रधानाचार्य,स्वामी सत्यमित्रानंद गिरी राजकीय इंटर कालेज हरिपुरकला ने बताया कि आनन्दम् पाठ्यचर्या प्रशिक्षण के चार आयाम हैं जिसमें - ध्यान देने की प्रक्रिया, कहानी, गतिविधि व अभिव्यक्ति सम्मिलित है। यह पाठयक्रम मूल्यपरक शिक्षा पर आधारित है । डॉ बहुगुणा ने बताया कि आनंदम के तहत स्कूलों में प्रार्थना के बाद बच्चों को आनन्दम के अंतर्गत ज्ञानवर्धक जानकारी दी जाएं। उन्हें प्रेरक कहानियां सुनाई जाए। विभिन्न ऐसी गतिविधियां आयोजित की जाए जिससे छात्रों का मानसिक व बौद्धिक विकास हो। बच्चे आनंदित होकर शिक्षा प्राप्त कर सके । प्रशिक्षण में सन्दर्भदाता मोनिका शर्मा,सचिन कुमार त्यागी,सुशील कुमार काला ,सुधा रानी,प्रेमलता भट्ट,मनीषा रोहिला,वन्दना शर्मा,वन्दना गैरोला,गीता नेगी,मंजू बिष्ट,मीरा असवाल,कुसुमलता रयाल और रैनू बौराई ने प्रशिछण प्राप्त किया आनंदम पाठ्यचर्या प्रशिक्षण के प्रथम दिवस में ध्यान देने की प्रक्रिया पर विस्तृत जानकरी दी गई । इस प्रशिक्षण में विभागीय निर्देशों का पालन करते हुये कोविड़-19 संक्रमण का ध्यान रखकर सोशल डिस्टेंस का पालन करते हुए शिक्षको द्वारा प्रशिक्षण प्राप्त किया गया ।

अंजना भट्ट घिल्डियाल

Related Post