Latest News

स्पर्श गंगा अभियान के तहत पर्यावरण के प्रति बच्चों को किया जागरूक


स्पर्श गंगा अभियान के तहत विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर पॉलिथीन मुक्त तीर्थ नगरी बनाने के अभियान के तहत आज प्राथमिक विद्यालय सुभाष नगर में रीता चमोली के निर्देशन में शुरुआत की गई ।

हरिद्वार स्पर्श गंगा अभियान के तहत विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर पॉलिथीन मुक्त तीर्थ नगरी बनाने के अभियान के तहत आज प्राथमिक विद्यालय सुभाष नगर में रीता चमोली के निर्देशन में शुरुआत की गई । प्राथमिक विद्यालय में बच्चों को पर्यावरण के प्रति जागरूक करते हुए रीता चंमोली ने कहा कि पर्यावरण को सबसे ज्यादा नुकसान पहुंचाने में प्लास्टिक की भूमिका सबसे अधिक है. इसके अतिरिक्त मानव तथा मवेशियों के स्वास्थ्य के लिए बहुत खतरनाक साबित हो रहा है.जलवायु परिवर्तन के कारण बिगड़ता पर्यावरण विश्व के लिए सबसे बड़ी चिंता का विषय है. ऐसे में प्लास्टिक से पैदा होने वाले प्रदूषण को रोकना एक बहुत बड़ी समस्या बनकर उभरी है. प्रत्येक साल कई लाख टन प्लास्टिक उत्पादन हो रहा है, जो कि मिट्टी में नहीं घुलता-मिलता है. इसलिए विश्व भर के देश सिंगल-यूज प्लास्टिक के इस्तेमाल को समाप्त करने हेतु कठोर रणनीति बना रहे हैं। 2 अक्टूबर, 2019 को राष्ट्रपिता महात्मा गांधी जी की 150वीं जयंती के दिन देशभर में सिंगल-यूज प्लास्टिक बैन होने जा रही है। इस तारीख से सिंगल-यूज प्लास्टिक से बनने वाले छह प्रोडक्ट्स- प्लास्टिक बैग, स्ट्रॉ, कप्स, प्लेट, बोतल और शीट्स बंद होने जा रही हैं। प्रधानमंत्री माननीय नरेंद्र मोदी जी ने साल 2022 तक भारत को सिंगल-यूज प्लास्टिक से फ्री करने का लक्ष्य रखा है। बच्चो को माँ गंगा, पर्यावरण को स्वच्छ रखने , का संकल्प दिलाया। इस जागरूकता कार्यक्रम में रीता चमोली,प्रतिभा श्रीवास्तव,अर्चना रावत,अंशु मलिक ,रेखा शर्मा, निर्मला चिलवाल, मनु रावत, रेनू शर्मा,रीमा गुप्ता,,सहयोग किया

रामेश्वर गौड़

Related Post